Daily Archives: January 8, 2019

Most workplace harassment cases false, says women’s commission chief Vijaya Rahatkar

Most workplace harassment cases are false, says women’s commission chief Vijaya Rahatkar

AURANGABAD: President of the State Women Commission Vijaya Rahatkar said that though there has been a surge in harassment of women at their workplaces, many of the complaints filed with the commission turned out to be false. 

Rahatkar was addressing a conference organised by the office of Superintendent of police (rural) at Rukmini auditorium in MGM campus on Monday. Titled ‘Stree Shakti Manthan’, over 1,000 government employees and college students attended the programme where discussion on crimes against women took centre-stage. 

Besides Rahatakar, special inspector general (Aurangabad range) Prakash Mutyal, SP (rural) Arti Singh, zilla parishad president Devyani Dongaonkar and senior social worker Sindhutai Sapkal were present at the inauguration ceremony. 

During her address, Rahatkar said that domestic violence still accounted for the highest number of cases reported to the state women commission followed by child abuse and cyber crimes. 

Rahatkar, who is also the president of BJP’s Mahila Morcha—the national women wing of the party, cited the 2015 and 2016 figures of the National Crime Records Bureau and said that there has been an alarming rise in the number of crimes against women. 

Holding women accountable for not inculcating proper values in their children, Rahatkar said, “Women waste time watching TV serials and fail to instil the right values in children.” 

Talking about the cases of workplace harassment that are reported to the Commission, she said that most cases ended up to be a hoax. “Some women complain because they were asked to wear uniforms or asked to work till 6pm. Women should use their conscience before making such complaints,” she said. 

Contrary to what Rahatkar said during her address, Sapkal held women’s clothes responsible for the crimes. “If you expose your body, men will get provoked. I wore navvari all my life while traveling round the world,” she said. 

Singh said that the onus of ensuring women’s safety fell on police and appealed that women reach out to the police in case of need. She stressed on constant vigilance to prevent small crimes from turning into major ones. 

Mutyal said that only 1% work has been done towards women empowerment. He asked women to get their doubts clarified at such events and support police by identifying signs of abuse in their children. 

Dongaonkar called for instilling the same values in girls and boys. “Don’t just ask the girls to be careful, ensure that your boys are taught the right values,” she said.

Software engineer wife who sent Husbsnd to jail 🔥🔥wants to remarry him after three years !! says her people took away all the alimony 😂😂😂

सॉफ्टवेयर इंजीनियर पत्नी ने प्रोफेसर पति को पहले जेल भिजवाया फिर दिया तलाक, अब 3 साल बाद बोली- बहुत बड़ी गलती हो गई, अब पति के साथ रहना है

 

भोपाल न्यूज: पति ने कहा- नहीं करना दोबारा शादी, उसने अपमानित किया था

Bhaskar News | Jan 08, 2019, 06:23 PM IST 

भोपाल . तलाक के तीन साल बाद महिला का हृदय परिवर्तन हुआ और उसने पति के साथ दोबारा शादी कराने का आवेदन जिला सेवा विधिक प्राधिकरण में दिया। प्राधिकरण ने मामले में काउंसलिंग के लिए पति को बुलाया है। काउंसलिंग से पहले पति का कहना है कि वह पत्नी को साथ नहीं रखना चाहता। उसका कहना है कि पत्नी की वजह से उसे और उसके परिवार को जेल में रहना पड़ा। इसके चलते मानसिक और आर्थिक प्रताड़ना भी झेलना पड़ी। हालांकि पति ने दूसरी शादी नहीं की है, इसलिए काउंसलिंग के माध्यम से दोनों की री-मैरिज करने का प्रयास किया जा रहा है।

 

मां, भाई और बहन हड़प लेते हैं भरण पोषण की राशि

अयोध्या नगर निवासी महिला ने आवेदन में बताया, 14 फरवरी 2012 को उसकी शादी एक निजी कॉलेज में पढ़ाने वाले प्रोफेसर से हुई थी। जनवरी-2016 में उसका पति से तलाक हुआ था। इसके बाद ही उसे अपने परिजनों की असलियत पता चली। परिजन पति द्वारा दिए जाने वाली भरण-पोषण की राशि हड़प लेते हैं। मां, भाई और बहन ने उसका जीवन नर्क कर दिया है। उससे बहुत बड़ी गलती हुई है। वह अपने पति के पास जाना चाहती है। काउंसलर को महिला ने बताया कि वो खुद भी साॅफ्टवेयर इंजीनियर है। उसका आरोप है कि मायके वालों ने झगड़ा सुलझाने की जगह दोनों के बीच की खाई और बढ़ा दी। तलाक के बाद वह डिप्रेशन में चली गई। इसकी वजह से उसकी नौकरी छूट गई। उसने अपना जीवन भाई-बहन को समर्पित कर दिया और जमा पूंजी उनकी शादी में खर्च कर दी। भाई की शादी के बाद मां ने भी साथ देना बंद कर दिया। उसके बाद भाई , भाभी और मां ताने मारने लगे। हद तो तब हो गई जब भाई ने उसके साथ मारपीट की और घर से निकाल दिया, तब पता चला कि उसने तलाक लेकर गलती की। 

 

पति ने कहा- नहीं करना दोबारा शादी, अपमानित किया था

काउंसलर नुरुनिसा ने बताया कि इस मामले में पति ने शादी करने से इंकार कर दिया है। उसका कहना है कि पत्नी ने केस दर्ज कराया था। इस वजह उसे समाज में अपमानित होना पड़ा। इधर, जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव आशुतोष मिश्रा का इस मामले में कहना है कि तलाक के बाद दोनों की रि-मैरिज हो सकती है। पति और पत्नी दोनों ने शादी नहीं की है इसलिए दोनों री-मैरिज की काफी गुंजाइश है। काउंसलिंग से मामला सुलझ सकता है।

2018ஜனவரி 26ல் பாசிச பாஜக வால் பத்மஸ்ரீ விருது பெற்ற பார்ப்பனர் பற்றியது….

2018ஜனவரி 26ல் பாசிச பாஜக வால் பத்மஸ்ரீ விருது பெற்ற பார்ப்பனர் பற்றியது….

பதிவு-SakthiVenkatesan

கல்வியிலோ, வேலை வாய்ப்பிலோ… இடஒதுக்கீடு இல்லை, உதவித்தொகை இல்லை, PCR சட்டப் பாதுகாப்பு இல்லை, அடிப்பவனை திருப்பி அடிக்கும் ஷத்திரிய குணம் இல்லை. மாறாக திராவிடத்தின்… பல இழிச்சொற்களால் ஓடஓட விரட்டப்பட்ட சமூகம். ஆனாலும்… இந்த தேசத்தின் மீது வெறுப்புணர்ச்சி கொள்ளவில்லை. “இந்த தேசம், எனக்கு என்ன செய்தது” என்று கேட்கவில்லை, தேசத்திற்கு எதிராக பேசவில்லை, பிரிவினை கோரவில்லை, நாட்டுக்கு துரோகம் செய்யவில்லை, சலுகையில்லாத ஜாதியை காரணம் காட்டி ஒப்பாரி வைத்து, மூலையில் முடங்கிக் கிடக்கவில்லை.

மாறாக, இன்று உலகின் பெரும் தலைவலியாகிப் போன பிளாஸ்டிக் கழிவுகளின் மூலம், சாலை அமைக்கும் தன், உலகத்தரம் வாய்ந்த உயரிய தொழில் நுட்பத்தை, மிகச் சாதாரண நடுத்தர வர்க்கமாக இருந்த போதும்கூட, எத்தனையோ எதிர்கால பணத்தேவைகள் இருந்தபோதும் கூட, 300 மில்லியன் டாலருக்கு (இந்திய ரூபாய் மதிப்பில், கிட்டத்தட்ட…(தொகையை… ஒருமுறைக்கு இருமுறை கவனிங்க) ரெண்டாயிரத்து எண்பத்து ஆறு கோடிரூபாய் 20,86,05,00,000/) அமெரிக்க அரசாங்கம் விலைபேசிய போதும்கூட, “அந்த பணம் எனக்குத் தேவையில்லை. என் தொழில் நுட்பத்தை என் தாய்நாட்டுக்கு இலவசமாகவே தருவேன்” என்று சொல்லி, சொன்னது போல தந்து… பாரதப் பிரதமர் கையால் ‘பத்மஸ்ரீ விருது’ வாங்கி, அமெரிக்கா ‘கொடுக்கிறேன்’ என்று சொன்ன அந்த தொகையைவிட, தன் தாய்நாட்டின் விருது உயர்ந்தது என்று… பெருமிதத்துடன் உலகுக்கு உணர்த்திய #திரு_ராஜகோபாலன்… மதுரையை சேர்ந்த நடுத்தர, ப்ராமண குடும்பத்தில் பிறந்தவர்.

தேசத்தின் மீதான சில காதல்களை… என்ன விலை கொடுத்தாலும் வாங்க முடியாது.

சல்யூட் சார் …

#ஜெய்_ஹிந்த் !!! 😍🙏💞